Breaking News
BigRoz Big Roz
Home / Breaking News / कोलोस्ट्रॉल के नाम पर महज़ एक मेडिकल घोटाला : डॉ स्वतंत्र जैन

कोलोस्ट्रॉल के नाम पर महज़ एक मेडिकल घोटाला : डॉ स्वतंत्र जैन

 

 
क्या आपका कोलोस्ट्रॉल बढ़ा हुआ है, आप भी इसकी वजह से डरे हुए हैं, भयभीत हैं?
और हों भी क्यों ना बढ़ा हुआ कोलोस्ट्रॉल जान लेवा जो साबित होता है, इसके द्वारा असंख्य रोग हमारे शरीर में घर कर लेते हैं। लेकिन डॉ स्वतंत्र जैन की माने तो ये महज़ एक मेडिकल घोटाला है जो दवाई कंपनियों के द्वारा फैलाया जा रहा है।

यकीन ना आये तो ये रिपोर्ट पढ़ लें जो डॉ स्वतंत्र जैन ने बड़ी महनत से तैयार की है।

 

• विश्व का सबसे बड़ा मेडिकल घोटाला : कोलेस्ट्रॉल –

एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी सरकार ने कोलेस्ट्रॉल को आधिकारिक तौर पर
“Naughty खाद्य पदार्थ”
की सूची से हटा दिया है.
मूल रिपोर्ट इसी लेख के नीचे दी गयी है.
मेरे कई लेखों में मैं पूर्व में यह बात कहता ही रहा हूँ और अमेरिकी सरकार ने इसको आज सही भी साबित किया है. आप इस लेख और रिपोर्ट को काफी ध्यान से पढ़ें.
इस तरह से अमेरिकी सरकार ने कोलेस्ट्राल पर अपनी चालीस साल पुरानी चेतावनी पर यू-टर्न ले लिया है.
इस रिपोर्ट के अनुसार यह सिद्ध हो गया है कि हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल किसी भी तरह से चिंताजनक तत्व नहीं होता है.
दुर्भाग्यजनक बात यह है कि पिछले 40 वर्षों से अमेरिकी स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाओं की बिक्री से अमेरिकी औषध उद्योग को 1.5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक की कमाई हुई है.
Nikki Barr के अनुसार पिछले 40 साल में जो लोग अमेरिकी दवा उद्योग पर विश्वास करते थे, उनमें से दस लाख से ज्यादा नागरिकों की मौत का कारण कोलेस्ट्राल कम करने की दवाइयां बनी.
अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने 1970 के दशक के बाद से कोलेस्ट्राल के हृदय रोग और धमनियों में जमा होने से बचने के लिए उच्च कोलेस्ट्रॉल वाले पूर्ण वसा वाले डेयरी उत्पादों और अच्छी वसा वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहने के लिए चेतावनी दी और कई तरह के पोषक तत्वों को
“Naughty खाद्य पदार्थ”
की सूची में डाल दिया था.
लेकिन अभी हाल ही में अमेरिकी अधिकारियों ने मक्खन, पूर्ण वसा वाले डेयरी उत्पादों, नट, नारियल और तेल को अब ‘सुरक्षित खाद्य पदार्थ’ के रूप में वर्गीकृत कर दिया है और आधिकारिक तौर पर
“Naughty खाद्य पदार्थ”
की सूचि से हटा दिया है.
इस तरह से अपनी पिछले चेतावनी पर यू-टर्न लेते हुए अमेरिका के कृषि विभाग, 2015 ने अपने निष्कर्षों में कहा है कि AHA/ACC (American Heart Association / American College of Cardiology) की रिपोर्ट से यह स्पष्ट हो गया है कि
किसी भी तरह के dietary cholesterol तथा serum (blood) कोलेस्ट्रॉल के बीच कोई संबंध नहीं है.
“कोलेस्ट्रॉल का consumption भी कोई चिंताजनक बात नहीं है.
अमेरिकी आहार के दिशा निर्देशों को देने वाली सलाहकार समिति ने भी निर्देश दिया है कि अब उच्च कोलेस्ट्रॉल खाद्य पदार्थ खाने के खिलाफ लोगों को चेतावनी नहीं दी जाएगी.
इसके बजाय चिंता के मुख्य पदार्थ शकर पर ध्यान दिया जाएगा।
अमेरिका हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ स्टीवन Nissen ने कहा है कि
“यह कोलेस्ट्राल पर अभी दिया गया आहार निर्देश वास्तव में दशकों चल रहे गलत फैसले को अंततः सही किया गया है.”
उन्होंने कहा कि हमारे रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर में 20 प्रतिशत ही हमारे भोजन से मिलता है, बाकी सभी कोलेस्ट्राल तो लीवर द्वारा ही बनाया जाता है और वास्तव में शरीर की मूलभूत जरूरत है।
डॉ क्रिस Masterjohn कहा: “हम संभवतः हमारे शरीर की दैनिक कार्यों के लिए जरुरत का पर्याप्त कोलेस्ट्रॉल खाने से प्राप्त नहीं कर सकते हैं,
तथा वह तो हमारे शरीर के लीवर में हम स्वयं बनाते हैं।
इस तरह से तो हम सभी पागल हैं जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए अपना बहुत ज्यादा पैसा और समय लगा रहे थे।”
कोलेस्ट्रॉल के बारे में असली सच्चाई यह है कि कोलेस्ट्रॉल का बहुमत तो हमारे खुद के लीवर द्वारा ही निर्मित होता है।
हमारा मस्तिष्क भी मुख्य रूप से कोलेस्ट्रॉल से बना होता है।
तंत्रिका कोशिकाओं के सुचारू रूप से कार्य करने के लिए यह कोलेस्ट्राल बहुत आवश्यक है।
कोलेस्ट्रॉल एस्ट्रोजन, टेस्टोस्टेरोन, और corticosteroids सहित सभी स्टेरॉयड हार्मोन के निर्माण के लिए भी आधार है।
शरीर में उच्च कोलेस्ट्रॉल से एक ही स्पष्ट संकेत पता चलता है कि उस व्यक्ति के लीवर का स्वास्थ्य अच्छा है.
हृदय रोग और उसके जोखिम वाले कारकों की घटनाओं और प्रसार के लिए फ्रामिंघम अध्ययन के डॉ जार्ज वी मान एमडी एसोसिएट डायरेक्टर का कहना है कि
“संतृप्त आहार में वसा और कोलेस्ट्रॉल कोरोनरी हृदय रोग का कारण नहीं हैं
यह एक मिथक या भ्रान्ति है।
1. “शायद यह सदी का सबसे बड़ा धोखा, शायद किसी भी सदी का ”
2. कोलेस्ट्रॉल आज तक का सबसे बड़ा मेडिकल घोटाला है।
3. खराब कोलेस्ट्रॉल सरीखी कोई बात नहीं होती है.
4. दवा कम्पनियों के अत्यधिक लाभ के लिए सच्चाई को त्याग दिया है।
5. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का प्रयास हर अस्पताल और मेडिकल क्लिनिक में होता है
6. यह एक बहुत, बहुत खतरनाक प्रवृत्ति है।
रॉन रोजडेल, एमडी द्वारा
===================
“Statin दवाओं वास्तव में हृदय रोग बढ़ाती हैं”
अब आप अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बदलने की कोशिश बंद कर सकते हैं।
इस अध्ययन से संदेह से परे यह भी साबित हुआ कि कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग का कारण नहीं है और यह एक दिल का दौरा पड़ने का कारण नहीं है.
दिल के दौरे के लोगों का बहुमत में सामान्य कोलेस्ट्रॉल स्तर मिला है।
ग्रेट कोलेस्ट्रॉल घोटाला
K.L. तक कार्लसन, एमबीए
आज तक दिए गये कोलेस्ट्रॉल के सभी दिशा निर्देश वास्तव में दवा कम्पनियों के मुनाफे में वृद्धि करने के लिए बनाये गये थे,
उन्हें लोगों के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए नहीं बनाया गया है।
एक statin दवा के लिए एक दवा की बिक्री प्रतिनिधि के रूप में अपने अनुभव से जानते हैं। हम चिकित्सकों को जाहिरा तौर पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा बनाए गए नए कम एलडीएल के दिशा-निर्देशों पर जोर करने के लिए प्रशिक्षित किया गया था।
सच्चाई यह है कि आजतक दिए सभी दिशा निर्देशों से दवा कंपनियों को ही बहुत सारे वित्तीय लाभ हुए हैं.
कोलेस्ट्राल की सच्चाई इस तरह की है –

1. हमारे शरीर के दैनिक चयापचय के लिए कोलेस्ट्रॉल के 950 मिलीग्राम की जरूरत है
2. हमारा लीवर ही इसका मुख्य उत्पादक है।
3. कोलेस्ट्रॉल का केवल 15% हम खाना खाने के द्वारा प्राप्त कर रहे हैं.
4. अगर वसा या कोलेस्ट्राल की मात्रा हमारे भोजन में कम है, तो
5. इसका मतलब यह है कि हम अपने शरीर में कोलेस्ट्राल के 950 मिलीग्राम के स्तर को बनाए रखने के लिए अपने लीवर को अधिक काम करने का मौका दे रहे हैं,
6. इससे लीवर की ओवरलोडिंग हो जाती है.
7. कोलेस्ट्रॉल का स्तर हमारे शरीर में अधिक होने से यह पता चलता है कि हमारा लीवर सही काम कर रहा है. उसकी ओवरलोडिंग नहीं हो रही है.
8. विशेषज्ञों का कहना है एलडीएल या एचडीएल की तरह कोई भी कोलेस्ट्राल ख़राब नहीं होता है.
9. विचार करें कि कोलेस्ट्रॉल अगर जमता है तो हमारे मानव शरीर में फ़ैली खून की असंख्य नलियों में किसी और जगह पर क्यों नहीं जमता है?
10. यहाँ तक कि गुर्दे, अग्न्याशय, मूत्राशय, पित्ताशय तथा मस्तिष्क की बाल से भी बारीक नसों में भी नहीं जमता है,
11. तो फिर ऐसा कैसे और क्यों हो सकता है कि वह दिल को जाने वाली महा धमनियों को ब्लॉक करे?
12. अब सही या गलत का निर्णय आपके हाथ है.
हमेशा स्वस्थ रहने के लिए कोई भी व्यक्ति या परिवार अगर मेरे हर लेख में बताये उपचार द्वारा अपने शरीर की ओवरहालिंग और रिचार्जिंग करता है और खान-पान तथा एक्सरसाइज भी निम्न अनुसार लेता है, तो उसे कभी भी कोलेस्ट्रॉल, कैंसर, डायबटीज, ह्रदय रोग, लिवर रोग, किडनी फेल्यर, टी.बी., फेफड़े के रोग, चर्म रोग आदि कोई भी गंभीर बीमारी नहीं होगी और वह आजीवन सपरिवार स्वस्थ, प्रसन्न और खुशहाल रह सकेगा।

***

जीवन मंत्र

डॉ स्वतंत्र जैन

***

किसी भी तरह की काउंसेलिंग, परेशानी, लाचारी, बीमारी, पीड़ा या जिज्ञासा के उचित निवारण के लिए संपर्क करें –
मोब. 07777870145, 07400970145
drswatantrajain@gmail.com
http://www.muktiya.com/contact-us/

Please follow and like us:
error189076

Check Also

पायलट की ड्रेस पहनकर करता था हवाई यात्रा, अचानक खुल गयी पोल, उतर गई नकली पायलट की ड्रेस

लोग फैंटसी के लिए क्या क्या नहीं करते हैं। एक ऐसी ही ख़बर हम आपको …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy khabar 24 Express? Please spread the word :)