Breaking News
BigRoz Big Roz
Home / Breaking News / सत्यास्मि मिशन की ओर से सभी भक्तों के लिए महत्वपूर्ण सुचना

सत्यास्मि मिशन की ओर से सभी भक्तों के लिए महत्वपूर्ण सुचना

 

 

 

 

!!नववर्ष 2019 मंगलमय हो!!

!!जय सत्य ॐ सिद्धायै नमः!!

सत्यास्मि मिशन की और से सभी भक्तो को सुचना दी जाती है की :-

 

सत्यास्मि मिशन-सत्य ॐ सिद्धाश्रम शनिमन्दिर कोर्ट रोड बुलन्दशहर-

सत्यास्मि मिशन द्धारा सन् 1991 से चल रही सत्य ॐ सिद्धाश्रम शनिदेव मन्दिर कचहरी रोड बुलन्दशहर का “भक्तों के संकट निवारण दरबार” को अब पूरी तरहां से समाप्त किया जाता है।और उसके स्थान पर आश्रम में नए साल 2019 से निम्न कार्यक्रम नीचे दिए ज्ञान और नियम से भक्तों के और उच्चतर कल्याण को संचालित किये जायेंगे-

अब तक के भक्तों की समस्याओं को लेकर जो प्रयोगों पर अनुसन्धान हुए,उसके अनुसार सभी प्रयोगों में जो सर्वोत्तम और सफल रहे वे निम्न है:-

 

 

1-गुरु मंत्र:-
चूँकि गुरु मंत्र स्वयं गुरु ने प्रत्यक्ष साधना करके सिद्ध किया है,यो वो अपने सामने अपने शिष्य को उसकी संसारिक से आध्यात्मिक मनोकामनाओं की पूर्ति को देता है,और लेने देने वाला दोनों प्रत्यक्ष है,तो शिष्य को इसे जाग्रत नहीं करना पड़ता है,जैसे की-उसे पुस्तक या धार्मिक ग्रन्थों से पढ़कर इष्ट मंत्र,चालीसा,स्त्रोत्र पाठ आदि केवल अपने ही बल पर जाग्रत करने पड़ते है,और वे सहजता से जाग्रत नहीं होते है।और उसका शुभ परिणाम जपने वाले भक्त को नहीं मिलता है।
2-गुरु प्रदत्त शक्तिपात दीक्षा:-
गुरु आया ही संसार में भक्तों का उद्धार करने के लिए,इसलिए उसे अनन्त जन्मों की साधना से शक्ति सिद्ध प्राप्त होती है,यो वो सीधा भक्त में अपने स्पर्श से-अपनी कृपा द्रष्टि से-अपनी अभयदानी वचन वाणी से-अपने प्रत्यक्ष आश्वासित की-चिंता नहीं-मैं हूँ, स्वरूप से-अपने सकारात्मक भक्तों के संगठन के माध्यम से साहयक बनकर तारणहार बनता हैं।
प्रयोगवादी सम्पूर्ण ध्यान विधि:-
के माध्यम से मंत्र जप और उसके सभी शक्ति स्तरों को यानि कुंडलिनी जाग्रत कराकर एक एक क्रम से बता और अपना सहयोग देता हुआ कल्याण करता है।
सनातनी ज्ञान:-
अनंतकाल से चले आ रहे सच्चे ज्ञान को बता और समझा कर,भक्त की सभी संसारिक और आध्यात्मिक जिज्ञासाओं का उसके सामने उसे उत्तर देकर सम्पूर्ण सन्तुष्टि प्रदान करता है,जिस पाकर भक्त अपने जीवन के सभी अज्ञान से उत्पन्न भटकावो से मुक्त होकर सुखी और ज्ञानी जीवन जीता है।

 

 

ऐसे अनेक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष समाधानो को देखते हुए,गुरु जी ने सत्यास्मि धर्म ग्रन्थ पद्य गद्य में लिखा,जिसमें संसार के सभी वेदों से लेकर सामजिक अनसुलझे और भ्रमित प्रश्नों का सटीक उत्तर दिया है।और सभी लौकिक अलौकिक मनोरथों को सम्पूर्णता से देने वाली सहज और प्राकृतिक और बिना आडम्बर और सभी निषेधों से परे आत्मविद्या की- “रेहि क्रिया योग” को जनकल्याण को प्रदान किया,जिसे करके भक्त शीघ्र अतिशीघ्र अपने संसारिक और आत्मसत्य को प्राप्त कर साक्षात् जीवन में बिन आडम्बर के सहज और सुखी तथा जीवंत मोक्ष को प्राप्त कर सके।
यो नववर्ष से पहले वर्षों में चले आ रहे पूर्वत सभी उपायों की अनुपयोगिता के स्थान पर भक्तों के ये सर्व उपयोगी महाज्ञान दीक्षा रूप में प्रदान किया जायेगा।

1-चैत्र पूर्णिमां को प्रेम पूर्णिमां व्रत।
2-सत्यास्मि अवतरण दिवस।
3-शनिदेव जन्मोदिवस।
4-गुरु पूर्णिमां।
5-कार्तिक पूर्णिमां पर स्त्री शक्ति गंगा स्नान आंदोलन।
-6-नव्वर्ष 1 जनवरी को प्रातः से साय तक श्री महायज्ञ।।

अतः इस नए साल 2019 से सभी भक्त केवल निम्न नियमों पर चलकर अपना कल्याण कर सकेंगें:-

1-सत्यास्मि धर्म ग्रंथ का दैनिक पाठ।

2-केवल गुरु जी द्धारा ही दिए गए गुरु मंत्र का जाप-जो कम से कम 11 माला जप अनिवार्य है और सत्य ॐ पूर्णिमाँ चालीसा का 3 बार और श्री गुरु प्रार्थना चालीसा का 2 बार और श्री सत्य ॐ गुरु ज्ञान चालीसा का 2 बार,यो तीनों चालीसा मिलाकर 7 बार पाठ करना अनिवार्य है।

3-केवल गुरु जी द्धारा बताई गोपनीय रेहि क्रिया विधि का दैनिक अभ्यास।

4-और आश्रम के 6 वार्षिक कार्यक्रमों को मनाते हुये,उसमें अवश्य की अपनी उपस्थिति देकर सेवा करनी।

5-आश्रम से प्रकाशित ग्रंथ-चालीसा आदि के प्रचार व् प्रसार तथा कार्यक्रमों के लिए साप्ताहिक या मासिक दान करना।

6-पूर्णिमां देवी की अपने घर मंदिर आदि में श्रद्धा पूर्वक स्थापना करनी।

अतः जो भक्त जन अपने परिवारिक समस्याओं के सम्पूर्ण निदान चाहते है,वे अब से केवल गुरु दीक्षा ले कर साप्ताहिक-रविवार के दिन ध्यान आयोजन में

“प्रातः 5 से 6 बजे और साय 5 से 6 बजे तक”
ही आश्रम आये।
इस बीच के समय में न आये।

इस दीक्षा को ग्रहण करने यानि जुड़ने के लिए अपना रजिस्टेशन यानि अपना सम्मलित पत्र आश्रम में आकर शीघ्र कराये।

-आश्रम में केवल दीक्षित भक्तों जनों का प्रवेश ही सम्भव है।

विशेष जानकारी के लिए सम्पर्क सूत्र :-

मोहित जादौन जी – 9358660670
शिव कुमार जी-
0954 817 1554

गुरु दीक्षा ध्यान सत्संग दक्षिणा :-

1-सामान्य दीक्षा दक्षिणा-
51 सो रूपये।

2-विशेष शक्तिपात दीक्षा-
11हजार दक्षिणा।

 

 

स्वामी सत्येंद्र सत्यसाहिब जी
जय सत्य ॐ सिद्धायै नमः

www.satyasmeemission.org
Youtube chenal-swami satyandra ji

Please follow and like us:
189076

Check Also

स्त्रियुगों का सत्यार्थ प्रमाण, सत्यास्मि धर्म ग्रन्थ में वर्णित इस तथ्य को बता रहे हैं श्री सत्यसाहिब स्वामी सत्येन्द्र जी महाराज

        स्त्रियुगों का सत्यार्थ प्रमाण-इस विषय को प्रमाण के साथ समझाते हुए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy khabar 24 Express? Please spread the word :)