Breaking News
BigRoz Big Roz
Home / Breaking News / हरिद्वार कुंभ में बिना RT-PCR के आये श्रद्धालुओं को मेला अधिकारी ने वापस लौटाया, पहले रिपोर्ट लाओ फिर मेले में प्रवेश पाओ

हरिद्वार कुंभ में बिना RT-PCR के आये श्रद्धालुओं को मेला अधिकारी ने वापस लौटाया, पहले रिपोर्ट लाओ फिर मेले में प्रवेश पाओ

हरिद्वार में कुंभ मेला सजने सवरने लगा है। लेकिन कोविड के कारण जिस तरह का आयोजन होना चाहिए था वो इस बार देखने को नहीं मिल रहा है।

उत्तराखंड सरकार साफ कर चुकी है कि जो भी श्रद्धालु कुंभ में गंगा स्नान करने के लिए आ रहे हैं उन्हें बिना कोविड जांच रिपोर्ट के प्रवेश नहीं मिलेगा।

इसी कड़ी में मेलाधिकारी दीपक रावत एवं एसएसपी कुंभ जनमेजय खंडूरी ने सोमवार को नारसन बॉर्डर का औचक निरीक्षण किया। मेलाधिकारी ने नारसन बॉर्डर पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट रुड़की नमामि बंसल ने बसों और निजी एवं अन्य वाहनों से आने वाले यात्रियों के पंजीकरण, आरटीपीसीआर रिपोर्ट, मेडिकल सर्टिफिकेट आदि की जानकारी ली। बिना पंजीकरण और निगेटिव रिपोर्ट वाले श्रद्धालुओं को लौटाया गया। 

मेलाधिकारी ने शौचालयों, पेयजल और साफ-सफाई व्यवस्थाओं की भी जानकारी ली। कहा कि जो श्रद्धालुओं को कुंभ नगरी में प्रवेश और ठहरने से संबंधित जानकारी दी जाए। बिना पंजीकरण और 72 घंटे पूर्व की कोविड निगेटिव रिपोर्ट के कुंभ मेला क्षेत्र में ठहरने की अनुमति नहीं है।

मेलाधिकारी ने कहा कि 72 घंटे पूर्व की निगेटिव रिपोर्ट वालों को ही प्रवेश करने दिया जाए। जिनके पास रिपोर्ट नहीं है उनकी जांच की जाए। जांच नहीं कराने वाले यात्रियों को बॉर्डर से वापस किया जाए।

मेलाधिकारी ने बाॅर्डर पर कई वाहनों एवं बसों की स्वयं जांच भी की। एक गाड़ी हरियाणा और एक गाड़ी उत्तर प्रदेश से हरिद्वार आ रही थी। यात्रियों ने वेबसाइट पर पंजीकरण नहीं कराया था और न ही आरटीपीसीआर टेस्ट करवाया था। ऐसे में श्रद्धालुओं को बॉडर से ही वापस कर दिया। वहीं, उन्हें पंजीकरण एवं आरटीपीसीआर टेस्ट कराकर ही हरिद्वार आने के बारे में बताया गया। मेलाधिकारी ने नारसन बॉर्डर पर संचालित काउंटरों पर जाकर व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

नारसन बॉर्डर से हरिद्वार के लिए सबसे अधिक यात्रियों की आवाजाही होती है। सोमवार सुबह छह से दोपहर 12 बजे तक 2231 लोग आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आए। बिना पंजीकरण और आरटीपीसीआर की रिपोर्ट लेकर आने वाले 12 वाहनों में सवार यात्रियों को लौटाया गया।

महाकुंभ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जिले के विभिन्न बॉर्डरों पर शौचालयों और पीने के पानी की उपलब्धता कराई जाएगी। इसके अलावा श्रद्धालुओं की जांच के दौरान धूप से बचाव करने के लिए पुख्ता इंतजाम भी किए जाएंगे। इस बाबत आईजी मेला संजय गुंज्याल ने आदेश जारी कर दिए हैं। 

उन्होंने कहा कि बिना कोविड रिपोर्ट के श्रद्धालु हरिद्वार की सीमा में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। इसके लिए बाॅर्डर पर स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की ओर से चेकिंग की जा रही है। चेकिंग स्टाफ बढ़ाया जा रहा है, ताकि श्रद्धालुओं को लंबा इंतजार नहीं करना पड़े।

साथ ही शाही स्नानों पर अतिरिक्त स्टाफ की तैनाती की जाएगी। बॉर्डर पर बसों के साथ ही दोपहिया और कारों की चेकिंग की जा रही है। इसके साथ ही जिनके पास रजिस्ट्रेशन है उनको सीधे आने दिया जा रहा है। कुछ लोग जांच से बचने के लिए वापस भी जा रहे हैं। 

खैर आधी अधूरी तैयारियों के साथ कुंभ 1 अप्रैल से शुरू तो हो चुका है लेकिन कोरोना के बीच कुंभ को संक्रमण से बचाना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती बनकर उभरा है।

ब्यूरो रिपोर्ट : खबर 24 एक्सप्रेस

Please follow and like us:

Check Also

राजस्‍थान में लगा लॉकडाउन 19 अप्रैल से 3 मई तक रियायतों के साथ ‘तालाबंदी’, जानिए क्या रहेगा बंद और कहां मिलेगी छूट : हरिमोहन राठौड़ की रिपोर्ट

राजस्थान (Rajasthan) में 19 अप्रैल सुबह 5 से 3 मई की सुबह 5 बजे तक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy khabar 24 Express? Please spread the word :)