Breaking News
BigRoz Big Roz
Home / Breaking News / वीडियो न्यूज़ : सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को दिया धक्का

वीडियो न्यूज़ : सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को दिया धक्का

वीडियो न्यूज़ 

 

 

 

 

दिल्ली: सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को दिया धक्का।

जिस वक्त दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ब्रिज का उद्घाटन कर रहर थे मनोज तिवारी के समर्थक मोदी मोदी के नारे लगा रहे थे।

आप के विधायक अमानतुल्लाह खान इससे भड़क गए और मनोज तिवारी को धक्का दे दिया।

धक्का मुक्की के बीच मनोज तिवारी का गुस्सा हुआ बेकाबू, उन्होंने और उनके समर्थकों ने केजरीवाल को दी भद्दी भद्दी गालियां।

भाजपा सांसद मनोज तिवारी बिन बुलाए पहुंचे थे ब्रिज के उद्घाटन में, इससे पहले वो दिल्ली पुलिस से झगड़ चुके थे।

भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने दी दिल्ली पुलिस को देख लेने की धमकी, कहा 4-5 पुलिस वालों की की है पहचान, जल्द बताऊंगा।

ब्रिज के उद्घाटन स्थल पर पहंचने के लिए दिल्ली पुलिस के साथ भी मनोज तिवारी और उनके समर्थकों ने की थी धक्का मुक्की।

बताया जा रहा है कि मनोज तिवारी जबरदस्ती अपने समर्थकों के साथ समारोह स्थल पर जाना चाहते थे।

जब दिल्ली पुलिस ने मनोज तिवारी की रोकने की कोशिश की तो मनोज तिवारी भड़क गए और फिर पुलिस वालों से भी हुई थी झड़प।

 

 

 

14 साल के इंतजार के बाद दिल्लीवासियों को सिग्नेचर ब्रिज की सौगात मिल गई है। रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वजीराबाद में यमुना नदी पर बने इस आठ लेन वाले ब्रिज का उद्घाटन किया। बता दें कि पिछले कई दिनों से सुर्खियों में रहे इस ब्रिज पर अब सोमवार से वाहन फर्राटा भरते देखे जा सकेंगे। इसके शुरू होने से लोगों को भारी ट्रैफिक से निजात मिल सकेगी।

वहीं सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में क्षेत्र के भाजपा सांसद मनोज तिवारी के पहुंचने पर जमकर हंगामा हुआ। दरअसल, तिवारी को दिल्ली सरकार ने इस समारोह में आमंत्रित नहीं किया है। इसके बावजूद तिवारी अपने समर्थकों के साथ सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह में शामिल होने पहुंचे थे। उनके यहां पहुंचने पर हंगामा हो गया। इसके बाद पुलिस ने उन्हें उद्घाटन स्थल पर जाने से रोकने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस और तिवारी के बीच धक्का-मुक्की भी देखने को मिली।

सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन से पहले मौके पर पहुंचे दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, ‘मैंने ब्रिज के निर्माण को दोबारा शुरू कराया था और अब अरविंद केजरीवाल उद्घाटन समारोह आयोजित कर रहे हैं। मुझे उद्घाटन समारोह में आमंत्रित किया गया था, जबकि मैं यहां से सांसद हूं। ऐसे में समस्या क्या है? क्या मैं एक अपराधी हूं? पुलिस ने मुझे क्यों घेर लिया? मैं यहां उनका (अरविंद केजरीवाल का) स्वागत करने के लिए हूं। आम आदमी पार्टी और पुलिस ने मेरे साथ दुर्व्यवहार किया’

 

पुलिस वालों को दी मनोज तिवारी ने धमकी :

 

हंगामे के बाद तिवारी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘पुलिस के जिन लोगों ने मुझे धक्का-मुक्की की है उनकी शिनाख्त हो गई है। मैं इन सबको पहचान चुका हूं और 4 दिन में इनको बताऊंगा की पुलिस क्या होती है।’

वहीं मनोज तिवारी के सिग्नेचर ब्रिज पर पहुंचने को लेकर हुए हंगामे पर आम आदमी पार्टी के दिलीप पांडे ने कहा कि यहां हजारों लोग बिना निमंत्रण पत्र के आए हैं, लेकिन भाजपा सांसद (मनोज तिवारी) खुद को वीआईपी मानते हैं। भाजपा के समर्थकों ने आप कार्यकर्ताओं और यहां मौजूद लोगों के साथ मारपीट की। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है।

 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आदेश पर आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान ने उन पर कातिलाना हमला किया। उन्होंने धक्का दिया ताकि वे स्टेज की सीढ़ियों से गिरें और मर जाएं।

तिवारी ने कहा कि मेरी इच्छा स्टेज पर जाने की नहीं थी, वे तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बुके देना चाहते थे। उन्हें सिर्फ यह बताना था कि दूसरे के काम का फीता काटने में कितना मजा आता है, लेकिन उनकी शह पर अमानतुल्लाह ने आते ही गाली-गलौज शुरू कर दी और हमला किया।

यह बेहद शर्मनाक है। तिवारी ने आरोप लगाया कि स्टेज पर अमानतुल्लाह ने उन्हें अपशब्द बोले, मैने कोई जवाब नहीं दिया तो वह वापस गए और स्टेज पर मौजूद लोगों के साथ सलाह-मशवरा कर अचानक आए और धक्का देने लगे।

चार दिन में बताऊंगा कि पुलिस क्या होती है
तिवारी ने पुलिस द्वारा उन्हें मंच के पास जाने से रोकने पर प्रतिक्रिया दी कि दिल्ली पुलिस के कुछ लोग मुख्यमंत्री केजरीवाल के साथ मिले हुए हैं। उन्हीं लोगों ने मिलकर मेरे साथ धक्का-मुक्की की।

धक्का-मुक्की करने वाले उत्तर-पूर्वी जिले के अतिरिक्त जिला पुलिस उपायुक्त राजेंद्र प्रसाद मीणा है। चार दिन में बताऊंगा कि पुलिस क्या होती है। सभी की कुंडली निकाल चुका हूं। मुझे पुलिस की मौजूदगी में धक्का दिया गया।

लाखों मतदाताओं का अपमान किया

तिवारी ने कहा मुझे निमंत्रण नहीं देकर केजरीवाल ने मेरे संसदीय क्षेत्र के लाखों मतदाताओं का अपमान किया है। देश का सबसे ऊंचा पुल उत्तर-पूर्वी दिल्ली में शान से खड़ा है तो उसकी योजना से लेकर निर्माण तक में भाजपा के हजारों कार्यकर्ताओं का संघर्ष और योगदान है।

ब्रिज का निर्माण जब अधर में लटका था तो मैंने पहल कर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन के दौरान उपराज्यपाल से मिल कर निर्माण के लिए राशि मंजूर कराई और बाद में काम तेजी से शुरू हुआ।

उन्होंने कहा मेरे संसदीय क्षेत्र ही नहीं पूरी दिल्ली के लिए सिग्नेचर ब्रिज हर्ष का विषय है, लेकिन इस विकास कार्य की धमक सहने के लिए खजूरी पुस्ता रोड और आगे वजीराबाद रोड की सड़कें तैयार नहीं है।

वजीराबाद रोड सिग्नल फ्री योजना प्रस्तावित है, लेकिन दिल्ली सरकार इसमें एक बड़ी बाधा है। इस ब्रिज के खुलने के बाद उत्तर-पूर्वी दिल्ली को जाम से मुक्ति नहीं मिलेगी बल्कि जाम की स्थिति और विकट हो जाएगी। इस समस्या से ओछी राजनीति करने वाले मुख्यमंत्री अभी भी अनजान है।
वीडियो हुआ वायरल
सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन पर हुई राजनीति और हंगामे का वीडियो वायरल हो गया है। लगातार दो वीडियो वायरल हुए हैं। पहले में मनोज तिवारी पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते दिख रहे हैं।

तस्वीर में मनोज तिवारी पुलिसकर्मियों पर मुक्का चलाते हुए देखे जा रहे हैं तो दूरे वीडियो में मंच के समीप मनोज तिवारी को विधायक अमानतुल्लाह स्टेज से धक्का देते हुए व कुछ बोलते हुए दिखाई दे रहे हैं।

 

ब्रिज के सभी सेंसर को एक कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है और इसे ब्रिज के शुरू होने से कुछ देर पहले बनाया गया है। ब्रिज के उद्घाटन के बाद सभी सेंसर को कंट्रोल रूम से कनेक्ट कर दिया जाएगा। कंट्रोल रूम में 24 घंटे ब्रिज की मॉनीटरिंग होगी। गौरतलब है कि 1998 में यमुना में बस गिरने से 22 छात्रों की मौत के बाद सिग्नेचर ब्रिज बनाने का फैसला लिया गया था।

Please follow and like us:
15578

Check Also

प्रचलित भस्त्रिका प्राणायाम और सत्यास्मि प्राणायाम में भिन्नता और इसका मतलब समझा रहे हैं श्री सत्यसाहिब स्वामी सत्येन्द्र जी महाराज

        भस्त्रिका प्राणायाम-प्रचलित भस्त्रिका प्राणायाम और सत्यास्मि प्राणायाम भिन्नता -इस विषय पर पद्य …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy khabar 24 Express? Please spread the word :)