Breaking News
BigRoz Big Roz
Home / Cricket / ऑस्ट्रेलिया पर जीत की हैट्रिक के साथ टीम इंडिया ने किया सीरीज़ पर कब्ज़ा, देखें इस मैच की खास बातें

ऑस्ट्रेलिया पर जीत की हैट्रिक के साथ टीम इंडिया ने किया सीरीज़ पर कब्ज़ा, देखें इस मैच की खास बातें

 

 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत की हैट्रिक लगाने के बाद टीम इंडिया ने इस सीरीज़ पर भी कब्जा कर लिया है। श्रीलंका को उसी के घर में क्लीन स्वीप करके आयी टीम इंडिया के हौसले बुलंद थे और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैचों की सीरीज में लगातार तीन मैच जीतकर साबित कर दिया कि इस भारतीय टीम यूँ ही सर्वश्रेठ नहीं कहा जाता।
आपको बता दें कि मेजबान भारत ने यहां होल्कर स्टेडियम में खेले गए तीसरे वनडे मैच में रविवार को आस्ट्रेलिया को पांच विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने पांच वनडे मैच की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले ली है। इस जीत के साथ ही भारत वनडे में नंबर वन टीम बन गई है। आस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए एरॉन फिंच (124) के शतक और कप्तान स्टीव स्मिथ (63) की पारियों के दम पर पूरे 50 ओवर खेलते हुए छह विकेट के नुकसान पर 293 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया। भारत ने 294 के लक्ष्य को हार्दिक पांड्या (78) रोहित शर्मा (71) और अजिंक्य रहाणे (70) की बेहतरीन पारियों के बूते 47.5 ओवरों में ही पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया। पांड्या ने दो विकेट भी लिए। हरफनमौला खेल के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

रोहित और रहाणे ने पहले विकेट के लिए 139 रनों की साझेदारी करते हुए जीत की नींव रखी। इसके बाद पांड्या और मनीष पांडे (नाबाद 36) ने पांचवें विकेट के लिए 78 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचाया। महेंद्र सिंह धौनी (नाबाद 3) और पांडे ने मिलकर जीत की औपचारिकता को पूरा किया। रोहित और रहाणे की जोड़ी ने टीम को अच्छी शुरुआत दी और आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को परेशान किया। 71 रन बनाने के लिए रोहित ने 62 गेंदें ही खेलीं और अपनी पारी में छह चौके और चार छक्के मारे। उन्हें नाथन कल्टर नाइल ने पवेलियन भेजकर मेहमान टीम को पहली सफलता दिलाई। टीम के खाते में आठ रन ही जुड़े थे कि रहाणे कमिंस की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। रहाणे ने 76 गेंदें खेलीं और नौ चौके लगाए।

दो सेट बल्लेबाजों के आउट होने के बाद भारत पर थोड़ा दबाव आ गया था। कोहली ने फिर जिम्मेदारी ली और टीम को 203 रनों के कुल स्कोर तक पहुंचाया। उन्होंने पांड्या के साथ तीसरे विकेट के लिए 56 रन जोड़े। हालांकि, कोहली अपनी पारी को 28 रनों से आगे नहीं बढ़ा पाए। एश्टन अगर की गेंद पर वह फिंच के हाथों लपके गए। कप्तान का स्थान लेने आए केदार जाधव अपने बल्ले से सिर्फ दो रनों का ही योगदान दे सके। तीन रनों के भीतर दो विकेट खोने के बाद मेजबान टीम एक बार फिर दबाव में थी और आस्ट्रेलिया को जीत की खुशबू आने लगी थी। पांड्या ने आस्ट्रेलिया के सपने को तोड़ दिया। यहां से उन्होंने मनीष पांडे के साथ पारी को संभाला और टीम को जीत की दहलीज तक ले गए। 72 गेंदें खेलते हुए पांड्या ने पांच चौके और चार छक्के लगाए। आस्ट्रेलियाई कप्तान स्मिथ ने उनका कैच भी छोड़ा जिसका पांड्या ने बखूबी फायदा उठाया।

जीत के लिए जब 10 रन चाहिए थे तभी पांड्या पवेलियन लौट लिए। इसके बाद धौनी और पांडे ने टीम को जीत दिलाई। इससे पहले, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी आस्ट्रेलियाई टीम को डेविड वार्नर (42) और फिंच ने बेहतरीन शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 70 रन जोड़े। वार्नर को पांड्या ने पवेलियन भेजा। यहां से फिंच और स्मिथ ने दूसरे विकेट के लिए 154 रनों की साझेदारी की। इस जोड़ी के सामने न भारतीय तेज गेंदबाज चले न पिछले दो मैचों से मेहमान टीम को परेशान करने वाले चाइनमैन कुलदीप यादव और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की जोड़ी चली। लेकिन जैसे ही यह जोड़ टूटी, आस्ट्रेलियाई टीम भटकती नजर आने लगी और 300 के आंकड़े के पार नहीं जा सकी।

 

इस जोड़ी ने भारतीय गेंदबाजों को दूसरे विकेट के लिए लंबा इंतजार करवाया। 224 के कुल स्कोर पर आखिरकार कुलदीप ने फिंच को जाधव के हाथों लपकवाकर पवेलियन भेजा। फिंच ने 125 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौके और पांच छक्के लगाए। कप्तान स्मिथ 243 के कुल स्कोर पर कुलदीप का ही शिकार बने। उन्होंने 71 गेंदों का सामना किया और पांच चौके लगाए। इन दोनों के जाने के बाद पिछले मैच में अर्धशतक लगाने वाले मार्कस स्टोइनिस (नाबाद 27) ने एक छोर संभाले रखा और टीम को 290 के आंकड़े तक पहुंचाया।

लेकिन, स्टोइनिस को दूसरे छोर से अच्छा साथ नहीं मिला और इसी कारण आस्ट्रेलियाई टीम 300 का आंकड़ा पार नहीं कर पाई। स्मिथ के जाने के बाद अगले ओवर में चहल ने खतरनाक ग्लैन मैक्सवेल (5) को छकाते हुए महेंद्र सिंह धौनी के हाथों स्टम्पिंग कराया। ट्रेविस हेड चार, पीटर हैंड्सकॉम्ब तीन रनों का ही योगदान दे सके। स्टोइनिस के साथ एश्टन अगर छह गेदों में एक चौके की मदद से नौ रन बनाकर नाबाद लौटे। भारत की तरफ से कुलदीप और बुमराह ने दो-दो विकेट लिए। पांड्या और चहल को एक-एक सफलता मिली।

 

Please follow and like us:
15578

Check Also

विराट का शतक भी नहीं बचा सका भारतीय टीम की हार, 6 विकेट से जीती न्यूजीलैंड की टीम

  विराट के शतक की बदौलत भारतीय टीम 280 रन बनाने में सफल जरूर रही …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy khabar 24 Express? Please spread the word :)